Application in Hindi

Application in Hindi: अनुरोध(Anurodh) व प्रार्थना पत्र (Prarthna Patra) लेखन

प्रार्थना और अनुरोध पत्र लिखने की ज़रुरत हमें अक्सर पड़ती रहती है। कई ऐसे लोग हैं जो application ठीक से नहीं लिख पाते, याद रहे की जब अनुरोध पत्र ठीक तरह से लिखी होगी तभी सामने वाला व्यक्ति आपसे प्रभावित होकर सकारात्मक कदम उठाएगा। अनुरोध पत्र क्या है? इसका जवाब है, जब आप किसी विषय पर, उस विषय से सम्बंधित विभाग से जुड़े व्यक्ति या संगठन से पत्र द्वारा अनुरोध करते हैं, उस पत्र को अनुरोध पत्र/Application कहते हैं। अनुरोध पत्र को हम आवेदन पत्र और प्रार्थना पत्र भी कहते हैं।

क्यों लिखते हैं application/अनुरोध पत्र?


application का मतलब है अनुरोध पत्र, जैसा की नाम से ही पता चल रहा है की अनुरोध पत्र हम तभी लिखते हैं जब हमें किसी व्यक्ति से अपनी बात रख कर उनसे किसी विषय पर अनुरोध करना हो।

अनुरोध पत्र एक औपचारिक पत्र की श्रेणी में आता है, इसमें हमें प्रोफ़ेशनल दिखना होता है। अनुरोध पत्र में हम औपचारिक भाषा का प्रयोग करते हैं।

अनुरोध पत्र आप अपने प्रधानाचार्य/Principal, बैंक कर्मचारी/Bank Official, स्कूल मैनेजमेंट/School Management इत्यादि को लिखते हैं।

APPLICATION IN HINDI
APPLICATION IN HINDI

Application को हिंदी में लिखने का format:(How To Write Application In Hindi)
सेवा मे,
(यहां पर जिस अधिकारी के लिए लिख रहे हैं उसका पद या नाम, उदाहरण: प्रधानाचार्य/प्रधानाचार्या ) (यहां पर संस्था का नाम , उदाहरण : चिल्ड्रेन पब्लिक स्कूल)
_(संस्था जिस जगह पर है उसका नाम, उदाहरण: बिंदकी, फतेहपुर)

विषय: (विषय के आगे जिस विषय पर आप application लिख रहे हैं, वह लिखें)

महोदय/महोदया, (पुरुष हैं तो महोदय का प्रयोग करें, स्त्री हैं तो महोदया का प्रयोग होगा)
(यहां पर अपना कारण लिखें, पांच से छह पंक्तियों में)

आपका विश्वासपात्र
नाम:_ (अपना नाम लिखें)
रोल नंबर:
कक्षा:
दिनांक:

नीचे दी गयी तस्वीर में दिखाया गया है की किस तरह आप अपने प्रधानाचार्य को अवकाश के लिए आवेदन पत्र (Application for leave in Hindi) लिख सकते हैं।

अनुरोध पत्र क्या है? (Application in Hindi)


जब आप किसी विषय पर उस विषय से संबंधित विभाग से जुड़े व्यक्ति या संस्था के पत्र द्वारा अनुरोध करते हैं, तो उस पत्र को अनुरोध पत्र/आवेदन कहा जाता है। हम अनुरोध पत्र को आवेदन पत्र (Application) भी कहते हैं।

अपने विद्यालय के प्रधानाध्यापक को, महाविद्यालय के प्रधानाध्यापक को, बैंक के शाखा प्रबंधक को बैंक में खाता खुलवाने की सूचना देना, थाने के थाना प्रभारी को, किसी भी विवाद की सूचना गांव को देना ग्राम प्रधान या प्रखंड स्तर पर बीडीओ से यह अपेक्षा की जाती है कि हम इसकी किसी भी शिकायत के लिए या ऐसे अन्य अवसरों पर आवासीय और आय प्रमाण पत्र जारी करने के लिए एक आवेदन पत्र लिखें।

प्रार्थना पत्र कैसे लिखें (Application in Hindi)


प्रार्थना पत्र का अर्थ है- अनुरोध पत्र। जब हम किसी विभाग के अधिकारी को पत्र के द्वारा अनुरोध करते हैं तो उस पत्र को प्रार्थना पत्र(Prarthna Patra in Hindi) कहते है। इसे आवेदन पत्र भी कहते है।

कार्यालय से अवकाश हेतु एप्लीकेशन – Application in Hindi
नरेंद्र वर्मा (मैनेजर का नाम)
मैनेजर टेक्निकल डिपार्टमेंट (डिपार्टमेंट का नाम)
ABC कंपनी (कंपनी का नाम)

विषय – कार्यालय से अवकाश हेतु

महोदय,

           नम्र निवेदन है कि कल दिनांक 20.04.2023 से 22.04.2023 तक मुझे कार्यालय से अवकाश चाहिए। क्योंकि किसी कारण वश मुझे शहर से बाहर जाना है और कोई अति आवश्यक कार्य करना है।

(यहां पर आप कोई भी कारण लिख सकते हैं जैसे कि भाई की शादी है, आप बीमार हैं, आपके घर में कोई जरूरी कार्य है इत्यादि कोई भी कारण लिख सकते है।

जिस कार्य के लिए भी आप को अवकाश चाहिए वह कारण लिख सकते हैं)। मुझे अवकाश देने का कष्ट करें, मैं आपको बहुत धन्यवाद देता हूं।

सधन्यवाद

भवदीय

विकास कुमार

दिनांक 19.04.2018

Formal Letter Format/औपचारिक पत्र पैटर्न

  1. यह पत्र पेज के बायीं तरफ से शुरू होता है
  2. इसमें पहले आप जिन्हें पत्र लिख रहे हैं उनका पद, फिर संतान का नाम, इसके बाद जगह लिखते हैं
  3. इसके बाद एक लाइन छोड़ कर आप दिनांक डालते हैं
  4. फिर आप एक लाइन छोड़ कर विषय लिखते हैं
  5. इसके बाद एक लाइन छोड़ते हैं, फिर जिसे पत्र लिख रहे हैं उन्हें महोदय/ महोदया से सम्बोधित करते हैं
  6. अब आप अपना पत्र लिखना शुरू करते हैं, और सिर्फ ज़रूरी बातें लिखते हैं जैसे छुट्टी लेने का कारण,
    कब से कब तक छुट्टी चाहिए, और उनसे प्रार्थना करना की वे उनकी अर्ज़ी स्वीकार कर लें
  7. इसके बाद आप उनका आभार प्रकट करते हैं, और अपनी सारी महत्व्पूर्ण जानकारियां लिखते हैं, जैसे
    आपका नाम, रोल नंबर आदि

Leave Application format औपचारिक पत्र उदाहरण

प्रधानाचार्य को बुखार के कारण अवकाश के लिए लिखा गया प्रार्थना पत्र

सेवा में
श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय
(स्कूल का नाम)
(जगह का नाम)

दिनांक – XX महीना XXXX

विषय :- बुखार होने पर अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदय ,
सविनय निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय की कक्षा 8 (apni kaksha ka naam) की/का छात्रा/छात्र हूँ। और मैं पिछले 2 दिनों से तेज़ बुखार से पीड़ित हूँ। डॉ द्वारा परामर्श लेने पर उन्होंने आराम करने को कहा है और मैं भी अधिक अस्वस्थ महसूस कर रहा हूँ| जिस वजह से मैं दिनांक xx/xx/xxxx से xx/xx/xxxx तक विद्यालय में आने में असमर्थ है| अतः आपसे विनम्र निवेदन है की आप मेरी दो दिनों की छुट्टी स्वीकार करें| इसके लिए मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी।

आपकी आज्ञाकारी
नाम – आपका नाम
कक्षा –
अनुक्रमांक –

हम उम्मीद करते हैं की जो ……. ……… जानकारियां और औपचारिक पत्र पैटर्न हमने आपको इस लेख में प्रदान किया है वह आपके लिए लाभकारी होगा| अन्य जानकारियां प्राप्त करने के लिए पेज के साथ जुड़े रहें|

  • 1.बुखार होने पर अवकाश हेतु आवेदन पत्र
  • 2. अवकाश के लिए प्रधानाचार्य को लिखा गया पत्र
  • 3.शुल्क मुक्ति (फीस माफ) के लिए प्रार्थना पत्र
  • 4. ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए प्रधानाचार्य को अनुरोध पत्र
  • 5.अवकाश के लिए प्रधानाचार्य को लिखा गया पत्र
  • 6.बैंक के लिए लिखा गया अनुरोध पत्र- Bank Application in Hindi
  • 7.ऑनलाइन कक्षा में उपस्ठित न हो पाने पर कॉलेज को अनुरोध पत्र

  • 8.विद्यालय छोड़ने का प्रमाण-पत्र हेतु प्रार्थना पत्र – Application For School Leaving Certificate in
    Hindi

  • 9.स्कूल में शिक्षण कार्य के लिए आवेदन पत्र- (Application in Hindi For Teaching Job)
    इस application में हम आपको बताएंगे की आप कैसे किसी विद्यालय में teacher job के लिए आवेदन
    क्र सकते हैं।
  • 10.स्कूल में शिक्षण कार्य के लिए आवेदन पत्र (Application in Hindi For Teaching Job)
  • 11.मामा जी की शादी के कारण दो दिनों तक विद्यालय से अवकाश(छुट्टी) प्राप्त करने हेतु अवेदन पत्र
  • 12.ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए प्रधानाचार्य को अनुरोध पत्र (Application in Hindi For
    Transfer Certificate)
  • 13.खेलकूद प्रतियोगिता करनवाने हेतु पत्र

  • 14.ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए(Application for Transfer Certificate in Hindi)

  • 15.टी.सी. प्राप्त करने के लिए प्रमाण-पत्र हेतु प्रार्थना पत्र – TC Application in Hindi
  • 16.विद्यालय से अवकाश हेतु प्रार्थना पत्र – Hindi Application to Principal for Leave


1. बुखार होने पर अवकाश हेतु आवेदन पत्र

  1. सेवा में
  2. श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय
  3. (स्कूल का नाम)
  4. (जगह का नाम)

सेवा में
श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय
(स्कूल का नाम)
(जगह का नाम)

दिनांक – XX महीना XXXX

विषय :- बुखार होने पर अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदय ,
सविनय निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय की कक्षा 8 (apni kaksha ka naam) की/का छात्रा/छात्र हूँ। और मैं पिछले 2 दिनों से तेज़ बुखार से पीड़ित हूँ। डॉ द्वारा परामर्श लेने पर उन्होंने आराम करने को कहा है और मैं भी अधिक अस्वस्थ महसूस कर रहा हूँ| जिस वजह से मैं दिनांक xx/xx/xxxx से xx/xx/xxxx तक विद्यालय में आने में असमर्थ है| अतः आपसे विनम्र निवेदन है की आप मेरी दो दिनों की छुट्टी स्वीकार करें| इसके लिए मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी।

आपकी आज्ञाकारी
नाम – आपका नाम
कक्षा –
अनुक्रमांक –

हम उम्मीद करते हैं की जो Application for Leave in Hindi जानकारियां और औपचारिक पत्र पैटर्न हमने आपको इस लेख में प्रदान किया है वह आपके लिए लाभकारी होगा| अन्य जानकारियां प्राप्त करने के लिए पेज के साथ जुड़े रहें|

2.अवकाश के लिए प्रधानाचार्य को लिखा गया पत्र

सेवा मे,
श्रीमान प्रधानाचार्य
चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल
बिंदकी फतेहपुर

विषय: अस्वास्थ्य होने के कारण, अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।

महोदय,
सविनय निवेदन है की मैं प्रखर मिश्रा आपके विद्यालय के कक्षा 10 भाग A का छात्र हूँ , मैं कल रात से बुखार से ग्रसित हूँ, अतः विद्यालय आने में असमर्थ हूँ।
कल चिकित्सक को जांच कराने पर पता चला की मुझे अभी दो दिनों तक घर पर आराम करना होगा।
कृपया मुझे 2 दिनों का अवकाश(19-7-20 से लेकर 21-7-20) प्रदान करें। मैं स्कूल लौटते ही छूटी हुई पढाई दोस्तों की मदद से जल्द से जल्द पूर्ण कर लूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
प्रखर मिश्रा
रोल नंबर: 05
कक्षा: 10
दिनांक: ………….

3.शुल्क मुक्ति (फीस माफ) के लिए प्रार्थना पत्र

सेवा में,
प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
सूरतगढ़।

विषयः शुल्क मुक्ति हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 12 का गरीब छात्र हूँ। मेरे पिताजी का निधन गत वर्ष हो गया। घर में और कोई कमाने वाला नहीं है। मेरी माताजी ही मजदूरी कर घर का खर्च चलाती है। हम पाँच भाई बहिन है। अतः मेरी माताजी विद्यालय का शुल्क जमा कराने में असमर्थ है।
कक्षा 10 में मैंने बोर्ड परीक्षा में विद्यालय में सर्वोच्च अंक प्राप्त किए है। इस वर्ष विद्यालय की क्रिकेट टीम का जिला स्तर पर मैंने नेतृत्व किया तथा टीम विजेता रही।
अतः मेरी आर्थिक स्थिति को देखते हुए आप मेरा शुल्क माफ करने का कष्ट करेंगे अन्यथा मुझे अपना अध्ययन रोकना पड़ेगा। आशा है, मेरा शुल्क माफ कर मुझे पढ़ने का अवसर प्रदान करेंगे।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
सुमित
कक्षा 12 क
दिनांक: 17 जनवरी, 2021

4.ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए प्रधानाचार्य को अनुरोध पत्र

सेवा मे,
श्रीमान प्रधानाचार्य
चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल
बिंदकी, फतेहपुर

विषय: ट्रांसफर सर्टिफिकेट हेतु।

महोदय,
सविनय निवेदन है की मैं आशु सचान इस वक़्त आपके विद्यालय के कक्षा 8 का छात्र हूँ, आपको बताना चाहता हूँ की मेरे पिता जी का कानपुर में ट्रांसफर हो गया है, हमें पूरे परिवार संग कानपुर में शिफ्ट होना पड़ेगा। इस कारणवश मैं आगे की पढाई इस विद्यालय से जारी रखने में असमर्थ हूँ। दूसरे विद्यालय में दाखिला लेने के लिए मुझे ट्रांफर सर्टिफिकेट(TC) की आवस्यकता पड़ेगी।
अतः कृपया मुझे ट्रांसफर सर्टिफिकेट अगले हफ्ते तक प्रदान करने की कृपा करें। मैं आपका सदैव ही ऋणी रहूंगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
आशु सचान
रोल नंबर:05
कक्षा 8
दिनांक: .., .., ..

5.अवकाश के लिए प्रधानाचार्य को लिखा गया पत्र

सेवा मे,
श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय ,
जी. पी. जौनपुर,
(जौनपुर)

विषय: अस्वास्थ्य होने के कारण, अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।

पुस्तकों के लिए प्रधानाध्यापक को पत्र (Prarthna Patra in Hindi)
सेवा में,
श्री प्रधानाचार्य जी,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
करणपुर।

विषय: पुस्तकों के लिए।

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 12 का छात्र हूँ। मेरे पिताजी की मासिक आय बहुत कम है। घर में हम चार भाई बहिन है। घर का साधारण खर्च भी बड़ी कठिनाई से चलता है। इस वजह से मेरे पिताजी मुझे पुस्तकें दिलाने में असमर्थ है।
अतः आप मेरी स्थिति को देखते हुए मुझे पुस्तकें दिलाने की व्यवस्था कर दें, अन्यथा पुस्तकें न होने की वजह से मैं अपना अध्ययन कार्य सुचारु रूप से नहीं चला पाऊँगा। मैं अपनी कक्षा में हमेशा प्रथम या द्वितीय रहता हूँ। कृपा के लिए मैं हमेशा आभारी रहूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
गौरव
कक्षा 12 क
दिनांक
महोदय,
सविनय निवेदन है की मैं रोहित यादव आपके विद्यालय के कक्षा 10 भाग A का छात्र हूँ , मैं कल रात से बुखार से ग्रसित हूँ, अतः विद्यालय आने में असमर्थ हूँ।
कल चिकित्सक को जांच कराने पर पता चला की मुझे अभी दो दिनों तक घर पर आराम करना होगा।
कृपया मुझे 2 दिनों का अवकाश(19-7-20 से लेकर 21-7-20) प्रदान करें। मैं स्कूल लौटते ही छूटी हुई पढ़ाई दोस्तों की मदद से जल्द से जल्द पूर्ण कर लूँगा।

आपका विश्वासी छात्र
नाम –
कक्षा –
अनुक्रमांक –
दिनांक –

6.बैंक के लिए लिखा गया अनुरोध पत्र- Bank Application in Hindi

सेवा मे,
बैंक मैनेजर
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया(SBI)
शाखा: गोमतीनगर, लखनऊ

विषय: पासबुक प्राप्त न होने पर।

महोदय,

सविनय निवेदन है मैं नितीश चौधरी आपके बैंक का एक उपभोक्ता हूँ, मैंने एक माह पहले आपकी शाखा से खाता खुलवाया था, मुझे बैंक द्वारा कहते की पासबुक अभी भी प्राप्त नही हुई है।
इस वर्ष मुझे स्कॉलरशिप का फॉर्म भरना है जिसमें मुझे बैंक की पासबुक की फोटोकॉपी लगानी पड़ेगी।
अतः आपसे निवेदन है है कृपया मुझे जल्द से जल्द पासबुक प्राप्त करवाने में मदद करें, मैं सदैव ही आपका ऋणी रहूंगा।

आपका उपभोक्ता
नितीश चौधरी
खता संख्या: 78785645423542
दिनांक: …-….-..

(ठीक इसी प्रकार आप अपना खाता बंद करवाने के लिए (bank account close application)भी एप्लीकेशन लिख सकते है, बस आपको विषय और एप्लीकेशन की बॉडी बदलनी होगी। )

7.ऑनलाइन कक्षा में उपस्ठित न हो पाने पर कॉलेज को अनुरोध पत्र


सेवा में
श्रीमान कोऑर्डिनेटर
पी.एस.आई.टी
कानपुर नगर

विषय: ऑनलाइन कक्षा में उपस्थित न हो पाने पर

महोदय,
सविनय निवेदन है की मैं प्रशन्न कुमार बनर्जी आपकी कक्षा का क्षात्र हूँ, अचानक से तबियत खराब हो जाने पर मैं कल की ऑनलाइन क्लास में उपस्थित न हो सका, जिसके कारण मुझे अगले ऑनलाइन टेस्ट में उपस्थिति होने के लिए रोक दिया गया है, मैं क्षमा प्रार्थी हूँ की मैं बिना पहले से सूचना किये अनुपस्थित रहा।

मैं ऐसी गलती दोबारा न दोहराने का वादा करता हूँ, मैंने अपने दोस्त प्रज्ज्वल और राहुल कुशवाहा की मदद से अपना छूटा हुआ पाठ्यक्रम पूर्ण कर लिया है, कृपया मुझे ऑनलाइन टेस्ट में बैठने की अनुमति दें। आपकी महान दया होगी।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
प्रशन्न कुमार बनर्जी
रोल नंबर: ……..
कक्षा: बी.टेक(तीसरा साल)

8.अवकाश आवेदन हेतु पत्र (Chutti ke Liye Application in Hindi)

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
हनुमानगढ़।

विषयः एक दिन के अवकाश हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 10 का विद्यार्थी हूँ। मुझे आज सुबह से बहुत तेज बुखार है क्योंकि मैं कल घर जाते समय बारिश में भीग गया था। इसलिए मैं आज स्कूल आने में असमर्थ हूँ।
अतः आप मुझे एक दिन का अवकाश प्रदान करें। आपकी अति कृपा होगी।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
राहुल
कक्षा 10 क

9.विद्यालय छोड़ने का प्रमाण-पत्र हेतु प्रार्थना पत्र – Application For School Leaving Certificate in Hindi


सेवा में,

प्रधानाचार्य,

आदर्श राजकीय विद्यालय ( विद्यालय का नाम)

शिवनगर, दिल्ली ( विद्यालय का पता)

विषय – विद्यालय छोड़ने का प्रमाण-पत्र प्राप्त करने हेतु

महोदय / महोदया,

                       सविनय नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय के कक्षा 9वीं का विद्यार्थी हूं। मेरे पिताजी आर्मी में है जिनका ट्रांसफर अब हिमाचल प्रदेश में कर दिया गया है।

चूंकि मेरे पिताजी का ट्रांसफर हो गया है तो मेरा पूरा परिवार अब हिमाचल प्रदेश में जाकर रहेगा, इसलिए मुझे भी यह विद्यालय छोड़ना होगा।

चूंकि आज पढ़ आपके विद्यालय से कर ली है लेकिन मैं नहीं चाहता कि दूसरे विद्यालय में मुझे शुरुआत से पढ़ाई करनी पड़ेगी। अगर आप मुझे विद्यालय छोड़ने का प्रमाण पत्र देते है तो दूसरे विद्यालय के प्रधानाचार्य मुझे 9वी क्लास में सत्र के बीच में प्रवेश लेने के लिए तैयार है. कृपया मुझे विद्यालय क्या करने का प्रमाण पत्र देने की कृपा करें।

सधन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य

विशाल कुमार

कक्षा – 9

क्रमांक – 7

10.स्कूल में शिक्षण कार्य के लिए आवेदन पत्र- (Application in Hindi For Teaching Job)
इस application में हम आपको बताएंगे की आप कैसे किसी विद्यालय में teacher job के लिए आवेदन
क्र सकते हैं।

सेवा मे,
श्रीमान प्रधानाचार्य
एसेंट पब्लिक स्कूल
घाटमपुर, कानपुर नगर

विषय: टीचर जॉब के लिए आवेदन।

महोदय
मेरा नाम आशुतोष त्रिवेदी है। मैंने कल ही अखबार में आपके विद्यालय का विज्ञापन पढ़ा जोकि शिक्षक भर्ती के लिए था। मैंने अंग्रेजी में फर्स्ट डिवीज़न से M.A पास किया है, मुझे अंग्रेजी पढ़ना काफी पसंद है। यह मेरा सौभाग्य होगा की मैं आपके विद्यालय में पढ़ा सकूं।
मैंने अपने बारे में जानकारी और ज़रूरी दस्तावेज़ इस आवेदन पत्र के साथ लगा दिए हैं।
अतः सब कुछ अगर आपके अनुकूल हो तो मुझे इंटरव्यू के लिए बुलाएँ, मैं सदा आपका आभारी रहूंगा।

एक समाजसुधारक
आशुतोष त्रिवेदी
ईमेल:

(याद रहे इस application के साथ अपनी शिक्षा योग्यता के प्रामण पत्र जोड़ना न भूलें )

11.स्कूल में शिक्षण कार्य के लिए आवेदन पत्र (Application in Hindi For Teaching Job)

सेवा मे,
श्रीमान प्रधानाचार्य
एसेंट पब्लिक स्कूल
घाटमपुर, कानपुर नगर

विषय: टीचर जॉब के लिए आवेदन।

महोदय
मेरा नाम आशुतोष त्रिवेदी है। मैंने कल ही अखबार में आपके विद्यालय का विज्ञापन पढ़ा जोकि शिक्षक भर्ती के लिए था। मैंने अंग्रेजी में फर्स्ट डिवीज़न से M.A पास किया है, मुझे अंग्रेजी पढ़ना काफी पसंद है। यह मेरा सौभाग्य होगा की मैं आपके विद्यालय में पढ़ा सकूं।
मैंने अपने बारे में जानकारी और ज़रूरी दस्तावेज़ इस आवेदन पत्र के साथ लगा दिए हैं।
अतः सब कुछ अगर आपके अनुकूल हो तो मुझे इंटरव्यू के लिए बुलाएँ, मैं सदा आपका आभारी रहूंगा।

एक समाजसुधारक
आशुतोष त्रिवेदी
ईमेल:

12.मामा जी की शादी के कारण दो दिनों तक विद्यालय से अवकाश(छुट्टी) प्राप्त करने हेतु अवेदन पत्र

सेवा में
श्रीमान कक्षा अध्यापक
चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल
बिंदकी फतेहपुर

विषय: अवकाश हेतु।

मोहदय,
सविनय निवेदन है की मैं अनुराग कश्यप आपकी कक्षा का छात्र हूँ, मेरे मामा जी की शादी अगले सोमवार को है।
हम सब शादी में उपस्थित होने के लिए कल कानपुर के लिए निकलने वाले हैं।
अतः आपसे निवेदन है की मुझे पांच दिन की छुट्टी (21-07-20 से 24-07-20 तक) प्रदान करें। आपकी महान दया होगी।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
अनुराग कश्यप
रोल नंबर: 05
कक्षा:8
दिनांक:

13.ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए प्रधानाचार्य को अनुरोध पत्र (Application in Hindi For Transfer Certificate)

सेवा मे,
श्रीमान प्रधानाचार्य
चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल
बिंदकी, फतेहपुर

विषय: ट्रांसफर सर्टिफिकेट हेतु।

महोदय,
सविनय निवेदन है की मैं आशु सचान इस वक़्त आपके विद्यालय के कक्षा 8 का छात्र हूँ, आपको बताना चाहता हूँ की मेरे पिता जी का कानपुर में ट्रांसफर हो गया है, हमें पूरे परिवार संग कानपुर में शिफ्ट होना पड़ेगा। इस कारणवश मैं आगे की पढाई इस विद्यालय से जारी रखने में असमर्थ हूँ। दूसरे विद्यालय में दाखिला लेने के लिए मुझे ट्रांफर सर्टिफिकेट(TC) की आवस्यकता पड़ेगी।
अतः कृपया मुझे ट्रांसफर सर्टिफिकेट अगले हफ्ते तक प्रदान करने की कृपा करें। मैं आपका सदैव ही ऋणी रहूंगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
आशु सचान
रोल नंबर:05
कक्षा 8
दिनांक: …- ..- ..

10.खेलकूद प्रतियोगिता करनवाने हेतु पत्र
सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,
कोटा।

विषय: विद्यालय में 5 दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता करवाने हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि हम आपके विद्यालय के कक्षा-11 के विद्यार्थी है। हम हमारे विद्यालय में 5 दिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित करवाना चाहते है। इसके लिए हमने फंड भी इकट्ठा किया है।
अतः आपसे निवेदन है कि आप हमें इस टूर्नामेंट के लिए स्वीकृति प्रदान करें। आपकी अति कृपा होगी।

भवदीय
राहुल
(क्लास हैड)

14.ट्रांसफर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए(Application for Transfer Certificate in Hindi)

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय,

श्रीगंगानगर।

विषय: ट्रांसफर सर्टिफिकेट हेतु।

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय के कक्षा 10 का छात्र हूँ। मेरे पिताजी का स्थानान्तरण श्रीगंगानगर से बीकानेर हो गया है। मेरा पूरा परिवार मेरे पिताजी के साथ बीकानेर का जा रहा है और मुझे भी उनके साथ जाना होगा। इस वजह से मैं अपनी आगे की पढ़ाई इस विद्यालय से जारी रखने में असमर्थ हूँ और दूसरे विद्यालय में एडमिशन के लिए मुझे मेरे ट्रांसफर सर्टिफिकेट (TC) की आवश्यकता है।
अतः आप मुझे ट्रांसफर सर्टिफिकेट देने की कृपा करें। मैं आपका सदैव आभारी रहूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य
रोहित
कक्षा 10 क
दिनांक: ……

15.टी.सी. प्राप्त करने के लिए प्रमाण-पत्र हेतु प्रार्थना पत्र – TC Application in Hindi

सेवा में,
प्रधानाचार्य,

आदर्श राजकीय विद्यालय ( विद्यालय का नाम)
शिवनगर, दिल्ली ( विद्यालय का पता)

विषय – विद्यालय छोड़ने का प्रमाण-पत्र प्राप्त करने हेतु।

महोदय / महोदया,

                       सविनय नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय के कक्षा 12वीं का विद्यार्थी हूं. मेरे पिताजी सरकारी विभाग में है जिनका स्थानांतरण जयपुर से दिल्ली कर दिया गया है।

आर्थिक दशा ठीक नहीं होने के कारण मुझे भी उनके साथ दिल्ली शहर में ही अध्ययन करना होगा. इस कारण मैं आपके विद्यालय में अब अध्ययन करने में असमर्थ हूं।

अतः प्रार्थना है कि मुझे विद्यालय स्थानांतरण प्रमाण-पत्र (T.C.) प्रदान कर अनुग्रहित करें. मेरी ओर विद्यालय का कुछ भी बकाया नहीं रहता है।

पुस्तकालय से ली हुई सभी पुस्तकें मैंने पुस्तकालय में जमा करा दी है और स्थानांतरण प्रमाण पत्र का निर्धारित शुल्क भी जमा करा दिया है।

कृपया मुझे विद्यालय से स्थानांतरण प्रमाण पत्र देने की कृपा करें।

सधन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य

सुमित कुमार

कक्षा – 12

क्रमांक – 7

16.विद्यालय से अवकाश हेतु प्रार्थना पत्र – Hindi Application to Principal for Leave


सेवा में,
प्रधानाचार्य,
आदर्श राजकीय विद्यालय ( विद्यालय का नाम)
विजयनगर, जयपुर ( विद्यालय का पता)

विषय – विद्यालय से अवकाश हेतु प्रार्थना पत्र

महोदय / महोदया,

                      सविनय नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय के कक्षा 8वीं का विद्यार्थी हूं। दिनांक 11.01.2023  से 13.01.2023 तक विद्यालय से अवकाश चाहिए।

….क्योंकि मुझे बहुत तेज बुखार है मुझे डॉक्टर ने सलाह दी है कि मैं दो-तीन दिन घर पर रहकर ही आराम करूं, …..
( यहां पर आप कोई भी कारण लिख सकते हैं जैसे कि भाई बहन की शादी हैं पिकनिक पर जाना है या फिर अन्य कोई कारण) इसलिए आप मुझे अवकाश देने की कृपा करें।

सधन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य

अमित कुमार

कक्षा – 8

क्रमांक – 2

इन बातों का रखें ख़ास ध्यान:

  1. जैसा की आप तस्वीर में देख पा रहे होंगे की बाईं तरफ से एक सीध में सारी पंक्तियाँ लिखी गयी हैं, याद रहे यही लिखने का सही तरीका है। यह आवेदन पत्र को और भी खूबसूरत बना देता है और पढ़ने वाला भी इससे प्रभावित होजाता है।
  2. आवेदन पत्र हमेशा साफ़ और सुथरी हैंड राइटिंग में लिखें।
  3. शब्दों के बिच में उचित दूरी बनाये रखें इससे पढ़ने वाले को सरलता होगी, और आपका काम भी साफ़ दिखेगा।
  4. अगर किसी समस्या पर आप पत्र लिख रहे हैं तो आपकी समस्या वाज़िब होनी चाहिए।
  5. application हमेशा कम शब्दों में लिखी जाती है, आपक 3 से चार पंक्तियों में इसे लिख सकते हैं।